यक्ष के प्रसन्न होने का यंत्र

 भूत देवी यक्ष के प्रसन्न होने का यन्त्र


यक्ष-यक्षिणी, थोड़े प्रयास ही इन्हें प्रसन्न किया जा सकता है, केवल आवश्यकता है एक मार्गदर्शक की जिसे , मनचाही उपलब्धियां देती हैं दिव्य यक्षिणियां,  यक्ष-यक्षिणी की साधना ... साधक पर प्रसन्न होने पर उसे नित्य धन, मान, यक्ष साधना । Yaksha Sadhana, मनोकामना की पूर्ति के लिए यक्षिणियों की साधना, यक्ष-यक्षणियों की साधना करने का फल, देवलोक की अप्सराएँ और इन्हें प्रसन्न करने के मनोकामना-मंत्र, यक्षिणी सिद्धि क्या होती है?, यक्षिणी कौन होती है?, यक्ष का क्या अर्थ है?,www.tantramantra.in


इस यन्त्र को सिरस के पेड़ के नीचे बैठकर लिखे तो भूत देवी यक्ष प्रसन्न होंगे। गुरु की आज्ञा लेना जरुरी। साधक पर प्रसन्न होने पर उसे नित्य धन, मान, मनचाही उपलब्धियां देती हैं भूत देवी दिव्य यक्षिणियां। 

*

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने